भागलपुर के लिए केंद्र ने लिया निर्णय, बदलेगी शहर की व्यवस्था, DPR बना, ये होंगे स्मार्ट शहर के नए सिस्टम

भागलपुर : शहर के नालों और कारखानों का पानी अब गंगा में नहीं गिरेगा. गंदा पानी को फिल्टर कर तब गंगा में गिराया जायेगा. महानगरीय तर्ज पर शहर में ड्रेनेज सिस्टम का निर्माण किया जायेगा. शहर के ड्रेनेज सिस्टम का निर्माण कार्य किया जायेगा. इस सिस्टम के निर्माण का जिम्मा बुडको के पास होगा. लगभग 150 करोड़ की लागत से इसका निर्माण कार्य होगा.

 

 

वैसे भी केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन के तहत देश में सभी जगह गंगा नदी को साफ करने की योजना है. शहर में ड्रेनेज सिस्टम दुरुस्त होने शहर में सड़क पर नाला का पानी नहीं बहेगा. इसका डीपीआर बन गया है. जल्द ही इस पर टेंडर का प्रक्रिया भी शुरू की जायेगी.

 

 

बनेंगे छोटे पंप हाउस,बड़े प्लांट में गंदा पानी किया साफ

शहर में ड्रेनेज सिस्टम में बड़े-बड़े नाला का निर्माण किया जायेगा. निर्माण प्रक्रिया होने के बाद शहर में 10 जगहों पर 10 पंप हाउस बनेंगे, जहां नाला के पानी को एकत्र कर किया जायेगा. उस पानी को गंगा साहेबगंज स्थित ट्रीटमेंट प्लांट में भेजा जायेगा. अभी बंद पड़े सिस्टम को आधुनिक बनाया जायेगा. पानी को वहां पर ट्रीटमेंट कर उसे फिल्टर कर साफ होने के बाद गंगा में गिराया जायेगा.

 

 

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शामिल होने के उपरांत भागलपुर में ऐसे कई प्रोजेक्टों के ऐलान और कार्य को बढ़ाया गया पर धरातल पर भागलपुर की जनता को कुछ ही चीज़ें वो भी आंशिक रूप से देखने को मिली हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *