May 16, 2018
8 Views
0 0

भागलपुर विक्रमशिला पूल को लेकर महत्वपूर्ण सूचना, जा रहे पूल तो ज़रूर पढ़ ले.

Written by

भागलपुर : 4.70 किमी लंबे विक्रमशिला सेतु पर एक्सपेंशन ज्वाइंट बदलने की तैयारी पूरी हो गयी है. बुधवार से एक्सपेंशन ज्वाइंट बदलने का काम होगा. सुबह लगभग नौ बजे से काम शुरू होगा. जीरोमाइल, भागलपुर की ओर से काम करायी जायेगी. सेतु की सड़क के बायीं से जर्जर एक्सपेंशन ज्वाइंट तोड़ा जायेगा. जिस जगह के जर्जर एक्सपेंशन ज्वाइंट को तोड़ा जायेगा, उसको घेर कर काम होगा.

 

उन जगहों पर पुलिस जवान की तैनाती रहेगी. ऐसे जगह पर गाड़ियां को एक-एक कर गुजारी जायेगी. पुल निर्माण निगम, खगड़िया मुंबई की कार्य एजेंसी रोहरा रीबिल्ट एसोसिएट से ही एक्सपेंशन ज्वाइंट बदलने का काम लेगा. कार्य एजेंसी ने पहले से ही बेंगलुरु से नौ एक्सपेंशन ज्वाइंट मंगा कर रखा है. सेतु पर चिह्नित जर्जर आठ एक्सपेंशन ज्वाइंट है, जो सभी जीरोमाइल, भागलपुर की तरफ से लगातार है.

 

इन आठों जर्जर एक्सपेंशन ज्वाइंट को जब बदल दिया जायेगा, तो इसके बाद और जहां कहीं क्षतिग्रस्त मिलेगा, उसको भी बदला जायेगा. बताते चलें कि एक्सपेंशन ज्वाइंट बदलने की अनुमति पूर्व में ही मिल चुकी थी और 11 मई से काम शुरू होना था मगर, प्रशासनिक पेच के चलते टल गया था. बुधवार से अब एक्सपेंशन ज्वाइंट बदलने का काम होगा.

 

चौबीस घंटे वनवे, जाम छुड़ाना पुलिस-प्रशासन के लिए रहेगी चुनौती, उत्तर व दक्षिण बिहार होंगे प्रभावित

एक्सपेंशन ज्वाइंट बदलने को लेकर 30 दिनों तक सेतु पर बुधवार से 24 घंटे वनवे रहेगा. इस दौरान रुक-रुककर वाहनों को पास कराया जायेगा. वन-वे ट्रैफिक के चलते सेतु पर जाम की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है. मगर, इससे निबटने के लिए पुलिस प्रशासन तैयार रहेगी. फिर भी सबसे ज्यादा परेशानी नो इंट्री के बाद की होगी.
 

उत्तर और दक्षिणी बिहार को जोड़ने के लिए बने इस सेतु से खगडि़या, सहरसा, पूर्णिया किशनगंज, अररिया कटिहार भागलपुर, बांका सहित झारखंड के कई जिले के लिए हजारों की संख्या में मालवाहक ट्रकों की आवाजाही नो इंट्री हटने के बाद से ही शुरू हो जाती है. वन-वे के चलते गाड़ियां रुक-रुक कर गुजरेगी, तो दूसरे दिन सुबह नो इंट्री लागू के समय के बाद भी जाम का असर दिखने को मिलेगा. लंबा जाम रहा, तो शहर की सड़कें भी प्रभावित हो सकती है. ऐसे में जाम को छुड़ाना पुलिस प्रशासन के लिए चुनौती होगी.

Article Categories:
Bhagalpur

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *